Jaane pre diabetis ke kuchh lakshan. – जानें प्री डायबिटीज के कुछ लक्षण।

प्रीडायबिटीज के लक्षणों को अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। ऐसे में ब्लड शुगर लेवल बढ़ता जाता है और व्यक्ति डायबिटीज का शिकार हो जाता है। डायबिटीज से पीड़ित लोगों की बढ़ती संख्या हम सभी …

प्रीडायबिटीज के लक्षणों को अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। ऐसे में ब्लड शुगर लेवल बढ़ता जाता है और व्यक्ति डायबिटीज का शिकार हो जाता है।

डायबिटीज से पीड़ित लोगों की बढ़ती संख्या हम सभी के लिए बड़ी चिंता का विषय बनती जा रही है। हम सभी के लिए यह समझना जरूरी है कि हम क्या गलतियां करते हैं और डायबिटीज का शिकार हो जाते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण प्रीडायबिटीज के लक्षणों को नजरअंदाज करना है। रक्त शर्करा का स्तर मधुमेह के स्तर तक पहुंचने से पहले, हमारा शरीर कई संकेत भेजता है जिन्हें प्रीडायबिटीज लक्षण के रूप में जाना जाता है। हम सभी अक्सर इस बात को नजरअंदाज कर देते हैं। ऐसे में ब्लड शुगर लेवल बढ़ता जाता है और व्यक्ति डायबिटीज का शिकार हो जाता है।

आज हम प्रीडायबिटीज के कुछ सामान्य लक्षणों के बारे में बात करने जा रहे हैं जिन्हें गलत होने पर भी हमें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। होम्योपैथिक डॉक्टर और पोषण विशेषज्ञ डॉ. स्मिता भोर पटेल प्रीडायबिटीज के लक्षणों के बारे में बात करती हैं। कृपया हमें इसे और अधिक विस्तार से समझने दें।

प्रीडायबिटीज के कुछ लक्षणों के बारे में यहां जानें

1.एकैन्थोसिस निगरिकन्स

इस स्थिति में, अक्सर गर्दन या अंडरआर्म्स पर काली, मोटी त्वचा दिखाई देती है, जो इंसुलिन प्रतिरोध का संकेत हो सकता है, जो प्रीडायबिटीज का एक प्रमुख कारक है। त्वचा टैग इंसुलिन प्रतिरोध से जुड़े हो सकते हैं और प्रीडायबिटीज वाले लोगों में अधिक आम हैं।

पेट की चर्बी से कैसे छुटकारा पाएं
जैसे-जैसे शरीर में चर्बी बढ़ती है, शरीर आलसी हो जाता है और कार्यक्षमता खोने लगती है। छवि – एडोब स्टॉक

2. पेट की चर्बी बढ़ना

पेट की अतिरिक्त चर्बी, विशेषकर पेट के आसपास, इंसुलिन प्रतिरोध और मधुमेह के खतरे को बढ़ा देती है। इस प्रकार की वसा ऐसे रसायन छोड़ती है जो इंसुलिन की क्रिया में बाधा डालती है, जिससे रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है और लोगों को मधुमेह हो जाता है।

यह भी पढ़ें

अगर आप इन 5 सुपरफूड्स को अपनी डेली डाइट में शामिल करेंगे तो सर्दी-जुकाम और बुखार आपके पास भी नहीं आएगा।

यह भी पढ़ें: पालतू जानवर को खोने के दर्द से निपटना: यदि आप किसी प्यारे पालतू जानवर को खोने के दुःख से उबर नहीं पा रहे हैं, तो ये युक्तियाँ मदद कर सकती हैं।

3. अधिक प्यास लगना और बार-बार पेशाब आना

पेशाब की आवृत्ति में वृद्धि और प्यास में वृद्धि प्रीडायबिटीज के लक्षण हो सकते हैं। जब शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है, तो शरीर मूत्र के माध्यम से अतिरिक्त ग्लूकोज को खत्म करने का प्रयास करता है, जिससे निर्जलीकरण हो सकता है। जब शरीर निर्जलित होता है तो हमें अधिक प्यास लगती है। ये लक्षण प्रीडायबिटीज में आम हैं क्योंकि इंसुलिन प्रतिरोध कोशिकाओं द्वारा ग्लूकोज के अवशोषण को रोकता है।

4. उपचार प्रक्रिया को धीमा कर देता है

घाव का देर से भरना प्रीडायबिटीज का एक और संभावित संकेत है। प्रीडायबिटीज में उच्च रक्त शर्करा का स्तर परिसंचरण और प्रतिरक्षा समारोह को प्रभावित कर सकता है, जिससे घावों और चोटों की मरम्मत करने की शरीर की क्षमता धीमी हो जाती है। ऐसे में घाव लंबे समय तक ठीक नहीं होगा और स्थिति गंभीर हो जाएगी, जिससे बड़ी परेशानी हो सकती है।

त्वचा की खुजली का द्वार
खुजली से बचने के लिए नियमित रूप से अपना ब्लड शुगर जांचें। छवि – शटरस्टॉक

5. खुजली वाली त्वचा

यदि आपको प्रीडायबिटीज है, तो आपको त्वचा संबंधी लक्षण भी अनुभव हो सकते हैं। ऐसे में त्वचा में खुजली महसूस होगी। शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ने के कारण आंखों के आसपास की त्वचा छिलने लगती है। इसके अलावा, पीली पट्टिकाएं दिखाई देने लगती हैं, और इतना ही नहीं, त्वचा पर टैग भी प्रीडायबिटीज का सबसे आम लक्षण है। वहीं, इस दौरान त्वचा संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें: जुए की आदत बर्बाद कर सकती है आपकी सेक्स लाइफ, डॉ. क्यूटरस ने बताए 5 कारण

Leave a Comment