Jaane kin karno se hoti hai kabj ki samasya. – जानें किन कारणों से होती है कब्ज की समस्या।

यदि हर सुबह बाथरूम जाना आपके लिए कष्टकारी है और कब्ज बार-बार होता रहता है, तो इसकी तह तक जाने का समय आ गया है। इस तरह आप वह उपचार पा सकते हैं जो आपके …

यदि हर सुबह बाथरूम जाना आपके लिए कष्टकारी है और कब्ज बार-बार होता रहता है, तो इसकी तह तक जाने का समय आ गया है। इस तरह आप वह उपचार पा सकते हैं जो आपके लिए सही है।

कब्ज एक बहुत ही आम समस्या बन गई है। आजकल की जीवनशैली और खान-पान के कारण अक्सर लोग इसका शिकार हो जाते हैं। कुछ लोगों को अक्सर कब्ज की शिकायत रहती है। हालाँकि, कुछ घरेलू उपचारों और दवाइयों की मदद से हम इस समस्या से कुछ समय के लिए राहत पा सकते हैं, लेकिन कुछ दिनों के बाद यह समस्या हमें फिर से परेशान करने लगती है।

इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि हम इलाज की बात तो करते हैं लेकिन कारण की नहीं। यदि आप स्थायी समाधान की तलाश में हैं, तो सबसे पहले यह समझना महत्वपूर्ण है कि ऐसा क्यों होता है, और फिर हम कुछ प्रभावी उपचारों के बारे में जानेंगे।

पोषण विशेषज्ञ और होम्योपैथिक विशेषज्ञ स्मिता पाटिल कब्ज के कुछ सामान्य कारण बताती हैं और कुछ प्रभावी उपचार सुझाती हैं। तो हमें बताएं कि कब्ज आपको क्यों परेशान करता है और हम इसके इलाज के लिए कुछ बेहतरीन टिप्स जानेंगे।

ये कब्ज का कारण बनते हैं (कब्ज के मूल कारण)

1. अपर्याप्त फाइबर और पानी की कमी

आहार में फाइबर की कमी से कब्ज हो सकता है। इसके अतिरिक्त, पर्याप्त पानी और अन्य तरल पदार्थ न लेने से निर्जलीकरण हो सकता है, जिससे मल कठोर हो सकता है और मल त्यागने में कठिनाई हो सकती है। कब्ज भी हो सकता है, जो आपको बार-बार परेशान कर सकता है।

यह भी पढ़ें

डेंटल चेकअप: ये 6 सवाल बताते हैं कि आपको तुरंत डेंटल चेकअप की जरूरत है।
अपने दाने का कारण पता करें और जितनी जल्दी हो सके कार्रवाई करें!
अपनी थकान का कारण ढूंढें और उसे यथाशीघ्र ठीक करें! छवि: अनप्लैश

2. गतिहीन जीवन शैली

शारीरिक गतिविधि की कमी या लंबे समय तक बैठे रहने से मल त्याग की गति धीमी हो सकती है। घर से काम करते समय लंबे समय तक बैठे रहने से भी असुविधा बढ़ सकती है और कब्ज हो सकता है।

3. औषधियाँ

कुछ दवाएं, जैसे ओपिओइड, कैल्शियम- या एल्युमीनियम युक्त एंटासिड, एंटीडिप्रेसेंट और रक्तचाप की दवाएं, दुष्प्रभाव के रूप में कब्ज पैदा कर सकती हैं। दवाओं का उपयोग सावधानी से करना भी बहुत महत्वपूर्ण है।

4. जीवनशैली में बदलाव

लंबी यात्राएं, दैनिक दिनचर्या में बदलाव, या सामान्य भोजन के समय में रुकावट से आंत्र की आदतें प्रभावित हो सकती हैं और कब्ज हो सकता है।

5. स्वास्थ्य स्थिति

कुछ चिकित्सीय स्थितियाँ, जैसे चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम (IBS), हाइपोथायरायडिज्म, मधुमेह और पाचन विकार, कब्ज का कारण बन सकती हैं।

भूखे रहने या ज्यादा खाने से पेट संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। चित्र: शटरस्टॉक
भूखे रहने या ज्यादा खाने से पेट संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। चित्र: शटरस्टॉक

कब्ज के उपचार के बारे में जानें

1. व्यायाम करें और सक्रिय रहें

अपनी मल त्याग को स्पष्ट और नियमित रखने के लिए अपने पाचन स्वास्थ्य पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। नियमित शारीरिक गतिविधि में शामिल होने और शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है। इसके अतिरिक्त, भोजन पचाने में आसान हो जाता है, जिससे मल त्याग नियमित रहता है।

यह भी पढ़ें: इन 5 समस्याओं का समाधान करते हैं किण्वित आंवले, जानें क्या है सही किण्वन विधि

2. नियमित जीवन शैली स्थापित करें

अपने नाश्ते, दोपहर के भोजन और रात के खाने के समय की उचित योजना बनाएं और एक ही समय पर खाने की आदत विकसित करें। इसके अलावा शौच का समय निर्धारित करना भी जरूरी है। यह शरीर के प्राकृतिक मल त्याग पैटर्न को विनियमित करने में मदद करता है।

3. फाइबर का सेवन बढ़ाएं

अपने आहार में फाइबर की मात्रा बनाए रखना महत्वपूर्ण है। ऐसा करने के लिए, फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे फल, सब्जियां, साबुत अनाज और फलियां शामिल करें। प्रतिदिन 25 से 30 ग्राम फाइबर खाने का लक्ष्य रखें। फाइबर पाचन प्रक्रिया को संतुलित रखता है और मल त्याग को नियंत्रित करता है।

खुद को स्लिम रखने के लिए पानी पिएं
पानी पीना ही सभी रोगों की एकमात्र अच्छी दवा है। छवि स्रोत: एडोब स्टॉक

4. हाइड्रेटेड रहें

निर्जलीकरण कब्ज का सबसे बड़ा कारण है। पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ और अन्य हाइड्रेटिंग पेय पियें। शरीर में पर्याप्त पानी होने से मल नरम रहता है और कब्ज की समस्या नहीं होती है।

5. भारतीय शौचालयों को प्राथमिकता दें

भारतीय शौचालय का प्रयोग करें या पॉटी का प्रयोग करें। यह मल त्याग के लिए आपके शरीर की स्थिति को सही करता है।

यह भी पढ़ें: सही प्रोटीन चुनते समय इन 5 बातों पर ध्यान दें

Leave a Comment