Jaane kaise neend ki kami weight gain ko badhawa deti hai. – जानें कैसे नींद की कमी वेट गेन को बढ़ावा देती है.

देर तक जागने की प्रवृत्ति बहुत खतरनाक है और इससे आपका वजन बढ़ सकता है। इसलिए कृपया जब भी संभव हो इसके प्रति सचेत रहें। संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए नींद बहुत महत्वपूर्ण है। वहीं, नींद …

देर तक जागने की प्रवृत्ति बहुत खतरनाक है और इससे आपका वजन बढ़ सकता है। इसलिए कृपया जब भी संभव हो इसके प्रति सचेत रहें।

संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए नींद बहुत महत्वपूर्ण है। वहीं, नींद की कमी से कई स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। आज के समय में मोटापे की समस्या बहुत आम हो गई है। आहार और व्यायाम के अलावा नींद भी मोटापे पर असर डालती है। नींद की कमी से वजन बढ़ सकता है। देर रात तक जागने की प्रवृत्ति बहुत खतरनाक है, इसलिए जितना हो सके सतर्क रहें। आज हेल्थ शॉट्स के जरिए हम जानेंगे कि कैसे नींद की कमी से वजन बढ़ सकता है (नींद और मोटापे के बीच संबंध)।

जानें कि कैसे नींद की कमी वजन बढ़ाने को बढ़ावा देती है (नींद-मोटापा लिंक)

1. नींद चक्र, कैलोरी और वजन

JAMA इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग 6.5 घंटे से कम सोते हैं उनका वजन असामान्य रूप से बढ़ता है। इन लोगों का बीएमआई 25.0 और 29.9 के बीच होता है, जिसे अधिक वजन माना जाता है। जब प्रतिभागियों ने 8 से 8.5 घंटे सोना शुरू किया, तो उनके समग्र स्वास्थ्य में सुधार हुआ। आहार और शारीरिक गतिविधि में भी बदलाव आया। लोगों की कैलोरी की मात्रा काफी कम हो गई और वे अधिक सक्रिय हो गए, जिससे उनकी कैलोरी जलाने की क्षमता भी बढ़ गई।

नींद के शेड्यूल में व्यवधान के कारण भी समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं।
यदि आप रात में पूरी तरह से सो नहीं पाते हैं और सुबह उठकर थकान महसूस करते हैं, तो अधिक पानी पियें।
छवि स्रोत: एडोब स्टॉक

2. नींद की कमी से हार्मोनल असंतुलन हो सकता है और भूख बढ़ सकती है।

नींद की कमी के कारण शरीर में भूख बढ़ाने वाले हार्मोन (ग्रेलिन) का स्तर बढ़ जाता है, जिससे लोगों को बार-बार भूख लगती है। इसी समय, लेप्टिन हार्मोन का स्तर कम हो जाता है, जिसके परिणामस्वरूप खाने के बाद असंतोष की भावना होती है और बार-बार खाने की इच्छा होती है। इस स्थिति में लोग बहुत अधिक खाना खाते हैं और असामान्य कैलोरी का सेवन करते हैं, जिससे वजन बढ़ने लगता है। इस मामले में, पर्याप्त नींद की सलाह दी जाती है क्योंकि संतुलित नींद चक्र हार्मोनल संतुलन बनाए रखने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें: दिल को भी डिटॉक्स करने की जरूरत है, आयुर्वेदिक विशेषज्ञों से जानें जरूरी जड़ी-बूटियों और सही तरीकों के बारे में।

यह भी पढ़ें

यदि व्यायाम के बाद आपकी मांसपेशियों में ऐंठन बढ़ जाती है, तो इन 4 युक्तियों का पालन करें।

3. नींद की कमी से क्रोनिक बीमारी का खतरा बढ़ जाता है

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं वे उन लोगों की तुलना में अधिक कैलोरी जलाते हैं जो पर्याप्त नींद लेते हैं। वहीं, ऐसे लोगों की खान-पान की आदतें भी काफी अस्वस्थ होती हैं। जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते उनमें उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह और मोटापा जैसी पुरानी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। शोध के अनुसार, नींद जीवनशैली चिकित्सा के छह स्तंभों में से एक है। अन्य 5 स्तंभ भी बहुत महत्वपूर्ण हैं, जैसे व्यायाम, स्वस्थ भोजन, तनाव में कमी, सामाजिक संबंध और खतरनाक पदार्थों से परहेज।

बेहतर नींद के लिए अपनाएं ये टिप्स
अगर बच्चों को पर्याप्त नींद मिलेगी तो उनका शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर होगा।चित्रा एडोब इन्वेंट्री

4. देर रात नाश्ता करना

आज की पीढ़ी में देर तक जागने की आदत बहुत आम हो गई है। अगर आपका शरीर रात में सक्रिय रहता है, तो जाहिर है कि आपको भूख लगेगी, जिससे देर रात स्नैकिंग का खतरा बढ़ जाता है। जब आप रात में कैलोरी का उपभोग करते हैं, तो आप सोते समय उन्हें जला नहीं पाएंगे। ऐसे में यह शरीर में वसा के रूप में जमा हो जाता है और वजन बढ़ाने को बढ़ावा देता है।

अच्छी नींद पाने के लिए क्या करें?

सोने का एक निश्चित समय और सुबह उठने का एक निश्चित समय निर्धारित करें। इससे आपको बेहतर और पर्याप्त नींद पाने में मदद मिलेगी।
नींद की स्वच्छता बहुत महत्वपूर्ण है, रात को सोने से पहले अपने बिस्तर को अच्छी तरह साफ करें और आज आसपास कोई गंदगी न छोड़ें। इससे नींद की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है।
बिस्तर पर जाने से पहले, अपने शरीर के तापमान को समायोजित करें और बेहतर नींद पाने में मदद के लिए वातावरण को अंधेरा, शांत और आरामदायक बनाएं।
सोने से करीब एक घंटे पहले टीवी, कंप्यूटर, लैपटॉप और स्मार्टफोन जैसे सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हटा दें।
सोने से पहले कैफीन, भारी धातुओं और शराब से बचें।
पूरे दिन सक्रिय रहने का प्रयास करें ताकि आपको रात में अच्छी नींद मिल सके।

यह भी पढ़ें: ये 5 शारीरिक लक्षण दिखने पर पड़ सकते हैं आपके मानसिक स्वास्थ्य पर असर, न करें इन्हें नजरअंदाज

Leave a Comment